मेथी खाने के फ़ायदे और नुकसान – 10 advantages of methi (fenugreek) seeds in hindi

Share

अगर आप रोज़ाना मेथी का सेवन करते है या फिर करना चाहते है, फिर आपको मेथी खाने के फ़ायदे और नुकसान को समझना बहुत ही ज़रूरी है। मेथी के दाने खाने के फ़ायदे बहुत है, लेकिन सही ढंग से न खाने पर इसके बहत से नकारात्मक प्रभाव हो सकते है। मेथी व मेथी के दानों में बहुत से पोषक तत्व होते है, जो कि शरीर में पोषण की कमी की पुर्ती करते है।

सामान्य भोजन से हमे सभी पोषण नहीं मिल पाते है, यह पोषण हमे मेथी, मेथी दाना और मेथी सप्लीमेंट्स के सेवन से मिल सकती है।

आगे पढ़कर जाने मेथी खाने के फ़ायदे, नुकशान, पोषण और हेल्थ से जुड़े अन्य बातें।

मेथी में पोषण (Nutrients in fenugreek)

जानिए एक मुट्ठी यानी 100 ग्राम मेथी दानों में कितना पोषण है : –

Calories (कैलोरी) – 323

Total fat (वसा)  : 6g

  • Saturated fat – 1.5g

Cholesterol (कोलेस्ट्रोल) : 0mg

Sodium (सोडियम) : 67mg

Potassium (पोटैशियम) : 770mg

Carbohydrates (कार्बोहायड्रेट) : 58g

  • Dietary Fibre – 25g

Protein (प्रोटीन) : 23g

  • ‌Vitamin A
  • Vitamin C
  • Calcium
  • Iron
  • Vitamin B-6
  • Magnesium

मेथी क्या है? (Methi or fenugreek in hindi)

मेथी के पत्ते

मेथी व मैथिका एक प्रकार के सब्ज़ी है, जिनके पत्तों को खाया जाता है। यह भारत में खाय जाने वाला बहुत ही मुख्य साग है।

इस साग (सब्ज़ी) की खेती गर्मी तथा ठंड दोनों मौसम में होती है। गर्मी में यह जून – जुलाई को उगते है और ठंडी में यह अक्टूबर के आस पास होते है। मेथी के बीज के लिए खेती कर रहे है तो गर्मी का समय सबसे अच्छा है।

ठंड के मौसम मेथी के पौधों के लिए बहुत ही अच्छा होता है इसलिए यह इस समय ज़्यादा तादात में उगते है।

भारत तथा अन्य बाकी देशों में मेथी और मेथी दानों को दवाई, सप्लीमेंट्स और मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। मेथी तेल, साबुन, शैम्पू, बॉडी लोशन आदि बनाने के काम में भी आता है।

आयुर्वेद में मेथी के साग और उसके दाने बहुत ही फायदेमंद साबित हुए है। मेथी से बनी दवाइयां बहुत सी बीमारियों के इलाज में काम आती है जैसे कि डायबिटीज, बालों का झड़ना, कैल्शियम की कमी इत्यादि।

मेथी खाने के फ़ायदे (Benefits of methi and methi seeds)

मेथी के दानों में ऐसे पोषक तत्व होते है जो कि शरीर के लिए बहुत ही अहम होते है। इनसे बहुत सी बीमारियों का भी इलाज भी हो सकता है।

साधारण भोजन द्वारा शरीर को पूरा पोषण नहीं मिल पाता है जो कि मेथी के दानों द्वारा पूरा हो सकता है। आगे पढ़कर जाने मेथी खाने के अन्य फ़ायदे : –

मेथी खाने के फ़ायदे #1

डायबिटीज से छुटकारा (शुगर के स्तर संतुलित करना)

मेथी के दाने डायबिटीज (diabetes) के मरीज़ों के लिए बहुत ही फायदेमंद होते है। इन बीजों में ज़्यादा मात्रा में घुलने वाला फाईबर होता है, यह फाईबर कार्बोहायड्रेट के पाचन और इसके सोखने को कम कर शरीर में शुगर का स्तर कम करता है, जिससे कि डायबिटीज कंट्रोल होता है।

मेथी खाने के फ़ायदे #2

शरीर में टेस्टोसटेरोन की मात्रा बढ़ाना

मेथी के बीज़ों से शरीर में टेस्टोसटेरोन की मात्रा बढ़ती है। इन दानों में फूरोस्टेनोलिक सैपोनिन्स (Furostanolic saponins) नाम का पदार्थ मौजूद होता जो की शरीर में टेस्टोसटेरोन की मात्रा बढ़ाकर सेक्स समस्या कम करता है, स्पर्म काउंट और शारीरिक ताकत भी बढ़ती है।

मेथी खाने के फ़ायदे #3

बालों का झड़ना रोके और उन्हें मजबूत बनाय

मेथी के दानों में विटामिन-A, विटामिन-C, विटामिन-K, पोटैशियम, कैल्शियम और आयरन जैसी तत्व होते है, जो कि बालों को मजबूत बनाकर उनका झड़ना रोकते है।

इन दानों में प्रोटीन और निकोटिनिक ऐसिड (Nicotinic acid) भी भरपूर मात्रा में मौजूद होते है, यह बालों को थिंनिंग, स्कैल्प का सूखापन आदि से दूर रखता है।

मेथी खाने के फ़ायदे #4

भूक को नियंत्रित करना

मेथी के दानों में एक बहुत ही ताकतवर फाईबर मौजूद होता है, यह शरीर में कार्बोहायड्रेट और फैट का सोखना कम कर शरीर के शुगर का स्तर संतुलित करता है जिससे कि भूक कंट्रोल होता है।

मेथी खाने के फ़ायदे #5

दर्द, सूजन व जलन कम करना

मेथी के दानों में एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) और एन्टीईनफ्लेमेटरी (anti-inflamatory) तत्व मौजूद होते है, जो कि जलन व सूजन को कम कर दर्द से राहत प्रदान करते है।

मेथी-दाना पेट में हुए अलसर अस्तमा (asthma) से होने वाली जलन को भी शांत करते है।

मेथी खाने के फ़ायदे #6

शरीर की ताकत बढ़ाना

मेथी और इससे बने सप्लीमेंट्स (supplements) में फूरोस्टेनोलिक सैपोनिन्स नाम का पदार्थ होता है, जो की शरीर में टेस्टोसटेरोन का लेवल बढ़ाकर शरीर को चुस्त, तंदुरुस्त और ताकतवर बनाता है।

मेथी खाने के फ़ायदे #7

पीरियड्स में होने वाले दर्द को कम करना

पीरियड्स (periods) में होने वाले दर्द, थकान और सिर दर्द को कम करने में मेथी दाने बहुत ही सहायक है।

मेथी के दानों में डाईओसजेनिन (diosgenin) नाम का पदार्थ होता है, जो कि शारीरिक और मानसिक तनाव को कम करता है।

मेथी खाने के फायदे - पीरियड्स में होने वाले दर्द को कम करना

मेथी खाने के फ़ायदे #8

कैल्शियम की कमी दूर करना

साधारण भोजन से शरीर को कैल्शियम की पूर्ती नहीं हो पाता है। मेथी दाना या मेथी सप्लीमेंट्स (supplements) में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है।

रोज़ाना मेथी के सेवन से कैल्शियम की कमी कभी नहीं होगी जिससे कि आप बहुत सी बीमारियों से भी दूर रहेंगे।

मेथी खाने के फ़ायदे #9

मोटापा कम करना

मेथी के दानों में ग्लैक्टोमैनन नाम का फाईबर होता है,  जिससे कि पेट भरा-भरा सा लगता और भूक कम लगती है। ग्लैक्टोमैनन शरीर का मेटाबोलिज्म (metabolism) बढ़ता है जिससे कि चर्बी घटाने अर्थाथ मोटापा कम करने में मदद मिलती है।

इन मेथी के दानों में 4-हाइड्रोक्सीआइसोलियूसिन            (4-hydroxyisoleucine) भी मौजूद होता है, जो कि मोटापा कम करने में सहायक है।

मेथी खाने के फ़ायदे #10

पाचन की समस्या दूर करना

मेथी के दानों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और  एंटीडिप्रेसेंट जैसे अन्य पोषक तत्व मौजूद होते है, जो कि पाचन सही कर पेट और आंत साफ करने में मदद करते है।

यह पेट के अलसर और कब्ज़ की बीमारी से भी राहत पाने में सहायक है। रोज़ाना मेथी दाने के सेवन से शरीर का मेटाबोलिस्म (metabolism) बढ़ता है, मेटाबोलिस्म के बढ़ने से शारीरिक कार्य बढ़ता है फिर यह वज़न कम करने में सहायता करता है।

मेथी का सेवन कैसे करें?

मेथिका यानी मेथी के दानों में बहुत से पोषक तत्व होते है, जो कि शरीर को साधारण भोजन से नहीं मिल पाता है।

साबुत व कच्चे  मेथी के दाने का स्वाद कड़वा होता है और इन दानों को कच्चा बिना मात्रा की जाँच करके खाय तो बहुत सी बीमारियाँ भी हो सकती है।

जानिए कैसे करते है, मेथी का इस्तेमाल : –

मेथी खाने के फ़ायदे
मेथी की चाय (Fenugreek tea)
  • मेथी भिगाकर पिये

→एक छोटी कटोरी में एक चम्मच मेथी भिगोने के लिए छोड़ दे।

→लगभग 10 घंटे छोड़ने के बाद मेथी के दाने अलग कर पानी को सुबह खाली पेट पिये।

→रात भर छोड़ने के अलावा आप एक कप गुनगुने पानी में एक चम्मच मेथी डालकर भी पी सकते है।

  • मेथी की चाय (fenugreek tea) कैसे बनाय

→एक चम्मच मेथी के दानों को अच्छे से धो ले।

→एक कप पानी को गर्म करें, पानी के थोड़े ही गर्म होने पर धोय हुए मेथी उसमे डाल दे। एक चम्मच मेथी एक कप के अनुसार ही डाले यानी चार कप पानी में चार चम्मच मेथी डाले।

→मेथी की रंग फिंकि पड़ने पर पानी गैस से उतार दे और ठंडी होने के बाद किसी डब्बे में रख दे।

→पानी में से मेथी दाने और बना सिरप अलग कर ले।

→बाद में इसे ठंडा या गर्म जैसे चाहे पी सकते है, सिरप के जमने पर आप थोड़ा पानी मिलाकर उसे पतला भी कर सकते है।

मेथी की चाय में आप शहद, अदरक, सौफ, हल्दी भी स्वाद के अनुसार मिला सकते है।

मेथी खाने के नुकसान

1. एलर्जी (Allergic side effects)

कुछ लोगों को मेथी के दानों के इस्तेमाल से एलर्जी हो सकता है। मेथी और मूंगफली में लगभग एक ही प्रकार का प्रोटीन मौजूद होता है, जो कि कुछ लोगों में एलर्जी होने का कारण है।

अस्तमा से पीड़ित व्यक्ति को यह एलर्जी बहुत ही गंभीर हो सकती है।

2. दस्त (Diarrhea)

अगर आप मेथी का सेवन करते है और मात्रा पर बिल्कुल ध्यान नहीं रखते है, तब हो जाय सावधान।

मेथी की मात्रा पर विशेष ध्यान देना ज़रूरी है, अगर यह ज़्यादा मात्रा में खाया जाय तो दस्त तथा पेट की अन्य समस्या उत्पन हो सकती है, जैसे कि सूजन, गैस, कब्ज़ इत्यादि।

3. अस्तमा (Asthmic problems)

अस्तमा फेफड़ो से जुड़ी एक गंभीर समस्या है जो कि एलर्जी, तेज़ गंध, खाना, ड्रग्स इत्यादि से हो सकता है।

एक अस्तमा से पीड़ित व्यक्ति के केस में यह देखने को मिला कि मेथी के पेस्ट बालों में लगाने से समस्या बहुत ही ज़्यादा बढ़ गई।

अगर अस्तमा से पीड़ित व्यक्ति को किसी चीज़ से एलर्जी है, तो फिर अस्तमा बहुत ही गंभीर रूप ले सकता हैं।

मेथी के नुकसान
अस्तमा पंप (asthma pump)

4. लो ब्लड शुगर (Hypoglycemia)

मेथी के दानों में हाई-फाईबर होता है, जो कि शरीर को खाने में से कार्बोहायड्रेट का सोखना कम कर, शुगर का स्तर कम करता है। खून में शुगर का स्तर ज़्यादा गिरने से थकान, ज़्यादा भूक और डिहाइड्रेशन जैसी समस्या हो सकती है।

यह दाने और उनके सप्लीमेंट्स लाभकारी ज़रूर है लेकिन इसके डोज़ पर ध्यान न दिया जाय हो बहुत सी बीमारियां उत्पन हो सकती है।

5. गैस की समस्या

मेथी के दाने पेट की समस्या जैसे कि गैस, कब्ज़, दस्त, अल्सर को ठीक ज़रूर करते है लेकिन दानों तथा सप्लीमेंट्स (supplements) की मात्रा पर ज़्यादा ध्यान न दिया जाय तो इसके बहुत ही नकारात्मक परिणाम हो सकते है।

सप्लीमेंट्स का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह अनुसार ही सेवन करे, ऐसा न करने से पेट तथा शरीर की समस्या और भी ज़्यादा बढ़ सकती है।

6. प्रेगनेंसी में बाधा (Miscarriage or premature delivery)

गर्वावस्था के दौरान डॉक्टर मेथी और इनके सप्लीमेंट्स बिल्कुल ही मना करते है। मेथी और इनके सप्लीमेंट्स गर्भाशय (uterus) में फैलाव करते है। 

प्रेगनेंसी (pregnancy) के दौरान मेथी का अत्यधिक सेवन करने से मिसकैरिज (miscarriage) या फिर  बच्चें का जन्म समय से पहले होने की समस्या उत्पन हो सकती है।

7. पेशाब से मिठास की गंध

मेथी के दानों का ज़्यादा इस्तेमाल करने से पेशाब और पसीने में से मेपल सिरप जैसी गंध आ सकती है, इस बीमारी को मेपल सिरप यूरिन डीसीस (Maple syrup urine disease) और MSUD भी कहते है।

यह बीमारी जेनेटिक भी हो सकती यानी माता-पिता द्वारा बच्चों को हो सकती है।

स्तनपान (breastfeeding) में मेथी खाने के फ़ायदे है?

स्तनपान (breast-feeding) के समय में मेथी दाने या फिर मेथी सप्लीमेंट्स फ़ायदेमंद हो सकते है। मेथी दाना स्तनपान के लिए दूध की मात्रा बढ़ाने में मदद करता है।

अगर आपको मटर या फिर मूंगफली से एलर्जी है, तब काफ़ी संभावना है कि आपको मेथी से भी एलर्जी हो सकता है।

गर्ववती महिला मेथी का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के कर सकती है लेकिन अगर आप डायबिटीज में दवाइयों का सेवन कर रही है या फिर खून पतला है, तब डॉक्टर की सलाह ज़रूर ले।

ब्लड प्रेशर की बीमारी में मेथी खाने के फ़ायदे क्या है?

Blood pressure in hindi

मेथी के दानों में ज़्यादा मात्रा में घुलने वाले फाईबर होते है, जो कि शरीर में से कोलेस्ट्रोल कम कर और खून को पतला बनाकर खुन का ब्लड प्रेशर (Blood pressure) कम करता है।

कोलेस्ट्रोल (cholesterol) एक चिपचिपा पदार्थ होता है और यह सेल्स के निर्माण में काम आता है। लेकिन ज़्यादा कोलेस्ट्रोल शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है।

यह कोलेस्ट्रोल शरीर में अन्य पदार्थो से मिलकर नसों में जम जाता है और इसे पतला बनाता है। नसों के पतले होने से शरीर में खून का बहाव तेज़ हो जाता है जिसके कारण बहुत सी बिमारियाँ उत्पन होती है जैसे कि थकान, चक्कर और सिरदर्द।

शरीर में कोलेस्ट्रोल का बढ़ना हार्टअटैक (heart-attack) का एक मुख्य कारण है। भारत में ग्रामीण क्षेत्र के मुकाबले शहरी लोगों में 10-15% ज़्यादा लोग हाई कोलेस्ट्रोल से पीड़ित है।

मेथी दाने (fenugreek seeds) कैंसरकारक है या नहीं?

आयुर्वेद द्वारा मेथी को कैंसर निरोधक बताया गया है लेकिन अभी तक इसका साफ पृष्टिकरण नहीं किया गया है। मेथी के दानों द्वारा महिलाओं में एस्ट्रोजन (estrogen) की मात्रा में बदलाव करता है जिससे कि ब्रेस्ट कैंसर (breast cancer) का खतरा हो सकता है।

हॉर्मोनल कैंसर (hormonal cancer) से पीड़ित व्यक्ति को मेथी दाने के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह ज़रूरी है।

ज़रूर पढ़े

मेथी व मेथी के दानों में बहुत से पोषक तत्व होते है, जो कि शरीर में रसायनों का संतुलन बनाने में मदद करता है।

मेथी, मेथी दाने और मेथी सप्लीमेंट्स (fenugreek supplements) खाने के फ़ायदे बहुत है लेकिन सेवन करते वक्त विशेष ध्यान देना अनिवार्य है। कुछ लोगों में  मेथी नुकसानदायक भी हो सकता है।

अगर आप किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है और मेथी का सेवन करना चाहते है, तब डॉक्टर की सलाह ज़रूर ले।

कमेंट सेक्शन में हमे अपने विचार और सवाल ज़रूर बताय।

 

 

 


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *